551.5 बिलियन डॉलर के उच्च जीवनकाल को हिट करने के लिए विदेशी मुद्रा भंडार 5.8 अरब डॉलर बढ़ जाता है। इससे RBI के डेटा का पता चलता है

FILE PHOTO: 15 जनवरी, 2018 को मेक्सिको के स्यूदाद जुआरेज में एक मुद्रा विनिमय दुकान में अमेरिकी डॉलर के नोटों के बंडल दिखाए गए हैं। REUTERS / जोस लुइस गोंजालेज / फाइल फोटो

FILE PHOTO: 15 जनवरी, 2018 को मेक्सिको के स्यूदाद जुआरेज में एक मुद्रा विनिमय दुकान में अमेरिकी डॉलर के नोटों के बंडल दिखाए गए हैं। REUTERS / जोस लुइस गोंजालेज / फाइल फोटो

समीक्षाधीन सप्ताह के दौरान, विदेशी मुद्रा किट्टियों में वृद्धि विदेशी मुद्रा आस्तियों (एफसीए) में वृद्धि के कारण हुई, जो कुल भंडार का एक अभिन्न अंग हैं।

  • PTI
  • आखरी अपडेट: 16 अक्टूबर, 2020, शाम 5:56 IST
  • हमारा अनुसरण इस पर कीजिये:

आरबीआई के मुताबिक, 9 अक्टूबर को समाप्त सप्ताह में देश का विदेशी मुद्रा भंडार 5.867 बिलियन डॉलर बढ़ गया, जो रिकॉर्ड 551.505 बिलियन डॉलर का उच्च स्तर था। 2 अक्टूबर, 2020 से पहले के सप्ताह में, भंडार 3.618 बिलियन अमरीकी डॉलर बढ़कर 545.638 बिलियन अमरीकी डॉलर हो गया था।

रिपोर्टिंग सप्ताह के दौरान, विदेशी मुद्रा किट्टियों में वृद्धि विदेशी मुद्रा आस्तियों (एफसीए) में वृद्धि के कारण हुई, जो कुल भंडार का एक अभिन्न हिस्सा हैं। एफसीए $ 5.737 बिलियन बढ़कर $ 508.783 बिलियन हो गया। डॉलर में व्यक्त, विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियों में गैर-अमेरिकी इकाइयों जैसे यूरो, पाउंड और येन की मुद्रा भंडार में रखी गई प्रशंसा या मूल्यह्रास का प्रभाव शामिल है।

आरबीआई के आंकड़ों में बताया गया है कि समीक्षाधीन सप्ताह में सोने का भंडार 113 मिलियन डॉलर बढ़कर 36.598 अरब डॉलर हो गया। अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) में विशेष आहरण अधिकार सप्ताह के दौरान $ 4 मिलियन बढ़कर 1.480 अरब डॉलर हो गया। आईएमएफ के साथ देश की आरक्षित स्थिति भी सप्ताह के दौरान $ 13 मिलियन से बढ़कर 4.644 बिलियन डॉलर हो गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *